Nitish Bhardwaj B’day: श्रीकृष्ण नहीं विदुर के लिए ऑडिशन देने गए थे डॉ नितीश भारद्वाज, नहीं बनी बात तो हो गए थे निराश

0


नितीश  भारद्वाज (Nitish Bhardwaj) एक एक्टर होने के साथ-साथ डायरेक्टर, स्क्रीन राइटर, प्रोड्यूसर भी हैं. इतना ही नहीं वह एक वेटनरी डॉक्टर हैं, इसलिए उन्हें डॉक्टर नितीश भारद्वाज के नाम से भी जाना जाता है. बतौर एक्टर नितीश ने कई फिल्मों और टीवी शो में अलग-अलग किरदार निभाए हैं, लेकिन असली पहचान उन्हें टीवी के प्रसिद्ध धारावाहिक ‘महाभारत’ (Mahabahrat)  के भगवान कृष्ण की भूमिका से मिली. 2 जून 1963 को जन्में नितीश भगवान कृष्ण रुप में इस कदर लोगों के बीच प्रसिद्ध हो गए कि उन्हें भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव मैदान में उतार दिया था. जहां भी नितीश जाते लोग उन्हें भगवान के रुप में पूजते और आदर देते थे. अपनी पॉपुलैरिटी की बदौलत नितीश जीत कर लोकसभा में भी पहुंचें थे. लेकिन कम लोगों को पता होगा कि नितीश ‘महाभारत’ में भगवान कृष्ण की नहीं बल्कि विदुर की भूमिका निभाना चाहते थे.

प्रसिद्ध निर्माता निर्देशक बी आर चोपड़ा जब ‘महाभारत’ के लिए कलाकारों का सेलेक्शन कर रहे थे तो नितीश भारद्वाज को पहले विदुर का रोल ऑफर किया गया था. मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में नितीश  ने बताया था कि ‘मैं मेकअप रुम में था. तभी वहां वीरेंद्र राजदान आए और बोलें  कि मैं विदुर का रोल प्ले कर रहा हूं. मैंने कहा ये कैसे हो सकता है इस रोल के लिए तो मुझे बुलाया गया है. तब वीरेंद्र ने कहा कि देखो मैं कास्ट्यूम पहन पर तैयार हूं और शॉट देने जा रहा हूं. ये सुनकर मैं हैरान रह गया’.

विदुर की भूमिका नहीं मिलने से निराश हो गए थे नितीश भारद्वाज
नितीश भारद्वाज ने बताया था कि ‘जब रवि चोपड़ा से मिला तो उन्होंने कहा कि विदुर को बूढ़ा दिखाना है और तुम काफी यंग हो, इसीलिए यह रोल तुम पर  नहीं जंचेगा . यह सुनकर मेरी सारी उम्मीद खत्म हो गई, मैं बेहद निराश था तो बी आर चोपड़ा ने फिर मुझे नकुल या सहदेव का रोल प्ले करने के लिए कहा लेकिन मैंने मना कर दिया’.

Nitish Bhardwaj

नीतीश वेटनरी डॉक्टर भी हैं. (फोटो साभार:nitishbharadwaj.krishna/Instagram)

ये भी पढ़िए-‘मौत से ज्यादा दर्दनाक होता है तलाक’, पत्नी संग अलगाव पर बोले ‘महाभारत’ के ‘कृष्ण’ नितीश भारद्वाज

कृष्ण के लिए 55 कलाकारों के ऑडिशन ले चुके थे बी आर चोपड़ा
इसी बीच बी आर चोपड़ा श्रीकृष्ण की भूमिका के लिए कलाकार की तलाश में थे. उन्होंने करीब 55 कलाकारों का टेस्ट लिया लेकिन कोई उनके मन मुताबिक नहीं मिला. ऐसे में रवि चोपड़ा ने एक बार फिर नितीश को बुलाया और कहा कि अगर तुम अच्छा रोल चाहते हो तो तुम्हें स्क्रीन टेस्ट देना पड़ेगा. चूंकि नीतीश स्क्रीन टेस्ट से घबराते थे लेकिन हिम्मत कर टेस्ट दिया और बन गए श्रीकृष्ण. जब ये धारावाहिक प्रसारित किया गया तो नितीश के सम्मोहन में दर्शक ऐसा बंधे कि उन्हें भगवान कृष्ण ही मानने लगे.

Tags: Actor, Bollywood Birthday, Krishna, Lord krishna, Mahabharat



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here