दलीप ताहिल ने 31 साल की उम्र में निभाया था आमिर के पिता का रोल, एक्टर ने किए ‘कयामत से कयामत तक’ से जुड़े खुलासे

0


आमिर खान और जूही चावला स्टारर ‘कयामत से कयामत तक’ साल 1988 की सुपरहिट फिल्म थी. यह आमिर की सबसे ज्यादा देखी और पसंद की जाने वाली फिल्मों में से एक है. इस फिल्म को मंसूर खान ने डायरेक्ट किया था. आमिर ने इसी फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा था. फिल्म में अभिनेता दलीप ताहिल ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. वह फिल्म में आमिर के पिता के रोल में थे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जब उन्होंने आमिर के पिता का किरदार निभाया तब वह सिर्फ 31 साल के थे.

दलीप ताहिल ने एक नए इंटरव्यू में इसके बारे में बात की और बताया कि कैसे प्रोड्यूसर नासिर हुसैन ने फिल्म में आमिर के पिता की भूमिका निभाने के लिए कहा था. दलीप ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि उन्हें उनके टीवी शो ‘बुनियाद’ के बाद ‘कयामत से कयामत तक’ मिली. उन्होंने बताया कि नासिर हुसैन इस फिल्म के राइटर भी थे.

दलीप ताहिल ने जब उन्होंने नासिर से पूछा कि वह उन्हें कहां देखते हैं, तो लेखक-निर्माता ने जवाब दिया कि उन्होंने ‘बुनियाद’ में उनका परफॉर्मेंस देखा और उन्हें यकीन था कि वह इस भूमिका को निभाने में सक्षम होंगे. दलीप ने ‘कयामत से कयामत तक’ में पिता की अपनी भूमिका को पावरफुल और इमोनशल पिता के रूप में बताया.

दलीप ताहिल ने खुलासा किया कि कई बड़े सितारों ने ‘कयामत से कयामत तक’ को ठुकरा दिया था. उन्होंने तब कहा था कि जब उन्होंने भूमिका निभाई थी तब वह सिर्फ 31 साल के थे, लेकिन उन्होंने फिल्म साइन करने से पहले अपनी उम्र के बारे में एक बार भी नहीं सोचा. उन्होंने ये भी कहा कि उस वक्त तक उनकी शादी भी नहीं हुई थी. दलीप ने आगे कहा कि शुरू में ‘कयामत से कयामत तक’ में संजीव कुमार और शम्मी कपूर को अभिनय करना था.

दलीप ताहिल ने कहा कि इस समय नासिर हुसैन निर्देशन करने वाले थे. हालांकि, उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उन्हें सलाह दी गई कि फिल्म निर्माण का दबाव खुद पर न लें. और इस तरह मंसूर खान ने निर्देशक की कुर्सी संभाली. लेकिन मंसूर खान ने संजीव कुमार और शम्मी कपूर जैसे दिग्गजों के साथ काम करने से साफ इनकार कर दिया, जिन्हें नासिर हुसैन कास्ट करना चाहते थे.

Tags: Aamir khan, Bollywood actors



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here