अनुराग बसु से जब डॉक्टर ने कहा था- ‘आपके पास सिर्फ 2 हफ्ते हैं’, जानें डायरेक्टर ने कैसे जीती थी कैंसर से जंग

0


‘बर्फी‘, ‘गैंगस्टर’ जैसी उम्दा फिल्मों के डायरेक्टर अनुराग बसु (Anurag Basu) कभी ब्लड कैंसर से पीड़ित थे. डॉक्टरों ने मान लिया था कि वे नहीं बचेंगे. उन्होंने अनुराग बसु से कह भी दिया था कि उनके पास सिर्फ कुछ 2 हफ्ते बाकी हैं, लेकिन जीवट अनुराग बसु ने कैंसर से अंत तक लड़ने का फैसला किया और उसे हराकर ही दम लिया.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अनुराग साल 2004 में ब्लड कैंसर से पीड़ित थे. उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि डॉक्टरों ने उनसे कहा था कि उनकी जिंदगी के सिर्फ 2 हफ्ते बाकी हैं. उन्होंने उस दौर को अपना सबसे भयानक दौर बताया है. जब उन्हें पता चला था कि वे कैंसर से पीड़ित हैं, तब उनकी पत्नी गर्भवती थीं.

सुनील दत्त के सहयोग से मिला जल्दी इलाज
अनुराग बसु ने अपनी पत्नी तानी को नहीं बताया था कि वे ब्लड कैंसर से जूझ रहे हैं, पर उन्हें मीडिया के जरिये इसकी भनक लग गई थी. डायरेक्टर को इलाज के दौरान जब मुंबई के अस्पताल में लाया गया, तब उनकी हालत में सुधार हुआ. वे सुनील दत्त के सहयोग से अस्पताल में जल्दी एडमिट हो पाए और उन्हें सही इलाज मिल पाया.

अनुराग बसु कीमोथेरेपी के दौरान करते रहे काम
फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े अनुराग बसु के कई दोस्तों ने उनके लिए ब्लड डोनेट किया था. वे नहीं जानते थे कि उनकी रगों में किसका खून था. उन्हें कीमोथेरेपी से गुजरना पड़ा था. उन्हें इलाज के लिए पैसे चाहिए थे, जिसकी वजह से उन्हें घर लौटना पड़ा था. अनुराग की जब कीमोथेरेपी हो रही थी, तब वे मास्क पहनकर फिल्म ‘गैंगस्टर’ को शूट कर रहे थे.

अनुराग ने बीमारी के दौरान लिखी थी ‘लाइफ इन ए मेट्रो’ की स्क्रिप्ट
अनुराग तब मुश्किल दौर से गुजर रहे थे, पर उन्होंने खुद को कमजोर नहीं होने दिया. उन्होंने इसी दौरान ‘गैंगस्टर’ और ‘लाइफ इन ए मेट्रो’ की स्क्रिप्ट तैयार कर डाली थी. दर्शक आज भी इन फिल्मों की सराहना करते हैं, उन्हें देखना पसंद करते हैं. दोनों फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट रही थीं.

Tags: Bollywood news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here